भस्मार्ती में अनाधिकृत अनुमति प्राप्त कराने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु लिखा पत्र

उज्जैन (सच्चा दोस्त न्यूज़ प्रतिनिधि) श्री महाकालेश्वर मंदिर में होने वाली भस्मार्ती के लिए श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबन्ध समिति के भस्मार्ती कार्यालय में सहायक प्रशासक मूलचन्द जूनवाल द्वारा भस्मार्ती की अनुमति जारी की जाती है। मंदिर समिति के अध्यक्ष एवं कलेक्टर शशांक मिश्र के आदेशानुसार अनुमति हेतु प्राप्त, हर आवेदन का संबंधित दर्शनार्थी को मंदिर कार्यालय से फ़ोन लगाकर सत्यापन किया जाता है । इसी तारतम्य में 06 सिंतबर 2019 को शहर (जिला) कांग्रेस कमेटी के लेटर पेड पर संतोष परमार शहर सचिव द्वारा 8 लोगो की भस्मार्ती परमिशन हेतु आवेदन प्राप्त हुआ था। महाकाल मंदिर की सुरक्षा प्रभारी रूबी यादव द्वारा जांच करने पर लेटर पेड वास्तविक न होकर कलर फोटोकॉपी में पाया गया । उक्त लेटर पेड पर संतोष परमार शहर सचिव, पता- कार्यालय राजीव भवन, क्षीर सागर, उज्जैन मोबाइल नंबर- 9981326665 अंकित था। उक्त नंबर पर दूरभाष द्वारा संतोष परमार से संपर्क किया गया। चर्चा के दौरान उन्होने बताया कि उनके 8 दोस्तो के लिए भस्मार्ती परमिशन हेतु अपना लेटर पेड दिया हैं। उनसे जब नाम सत्यापित कराने के लिए कहा गया तो उनके द्वारा कोई उत्तर न देकर फोन काट दिया गया। लगभग 5 मिनट पश्चात संतोष परमार द्वारा दोबारा फोन किया गया और कहा गया कि वे मेरे परिचित हैं जो सभी उत्तर प्रदेश से आए हैं। जब उनसे पूछा गया कि उत्तर प्रदेश के किस जिले से आए हैं तो वह बात को घुमाने लगे और कोई उत्तर नहीं दिया गया और फोन भी काट दिया। दोबारा संपर्क करने पर उन्होने फोन नहीं उठाया।

इसी आधार पर लेटर पेड पर दर्शाये गए दर्शनार्थियों से संपर्क किया गया। दर्शनार्थी मान सिंह पिता धरमपाल सिंह ग्राम केसरपुर, बरेली से संपर्क किया गया। उन्होने बताया की उनके साथी रवि गुप्ता ने किसी व्यक्ति से 700/- रूपये प्रति व्यक्ति के मान से भस्मार्ती कराने के लिए बात की हैं। उसके बाद रवि गुप्ता से संपर्क कर सभी को महाकाल कार्यालय बुलाया गया। जब वे सभी 13 व्यक्ति कार्यालय आए तो सुरक्षा अधिकारी रूबी यादव द्वारा उन्हें निशुल्क भस्मार्ती की जानकारी दी गई।

रवि गुप्ता और मान सिंह ने बताया कि वे बरेली उत्तर प्रदेश के निवासी है औऱ मजदूरी का काम करते है। वो सभी सुबह भस्मार्ती काउण्टर में लगे थे, लेकिन उनका नबंर आने से पहले काउण्टर बंद हो गया, जिसके बाद वो लोग धनलक्ष्मी पैलैस, महाकाल मैदान, मकान नंबर 143, माधव सेवा के सामने, में रूकने चले गए। वहां से उन्होने चेतन माली नामक व्यक्ति से मोबाइल पर संपर्क किया और उसने अनुमति करवाने के लिए सबके आईडी कार्ड लिए और प्रति व्यक्ति 700/- रूपये लेने की बात की। इसके बाद भी उनकी भस्मार्ती परमिशन नहीं हुई।

रवि गुप्ता व मानसिंह द्वारा चेतन माली की लिखित शिकायत कर कठोर कार्यवाही हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया हैं। इसके उपरांत भस्मार्ती प्रभारी द्वारा संतोष परमार शहर सचिव (जिला) कमेटी को पत्र क्रमांक/म.सु.प्र./2386 उज्जैन, दिनांक10/09/2019 पता-राजीव भवन, क्षीरसागर, उज्जैन के द्वारा लेटर पेड की सत्यता हेतु लेख किया गया। उक्त पते पर जब पत्र पहुंचा तो जिला कांग्रेस, उज्जैन के वरिष्ठ नेता लालचन्द भारती वहाँ मौजूद थे। उनके द्वारा बताया गया कि, इस नाम व पद का कोई व्यक्ति इस कार्यालय में कार्यरत नहीं हैं और उनके द्वारा लिखित में संतोष परमार पर सख्त कार्यवाही करने हेतु लेख किया हैं। उक्त प्रकरण में संतोष परमार व चेतन माली की अवैध संलिप्तता पाई गई है | श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के सहायक प्रशासक एवं भस्मार्ती प्रभारी मूलचंद जूनवाल द्वारा महाकाल थाना प्रभारी को पत्र लिखकर कार्यवाही करने हेतु कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *