डॉ. वसंत विजय जी महाराज होंगे नवकार उपाधि से अलंकृत, नवरात्र में समिति करेगी अलंकरण

चातुर्मास के पूर्व राष्ट्रसंत रत्नसुंदर सूरीश्वरजी को इंदौर में किया गया था अलंकृत

कोलकाता / उज्जैन/ इंदौर : वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी स्व. श्री अशोक जी लुनिया के स्मृति में देश भर के समाजसेवियों, सामाजिक संस्थानों के साथ समाज के गुरुभगवन्तो को सकल जैन समाज की तरफ से नवकार उपाधि से अलंकृत करने वाली नवकार उपाधि अलंकरण द्वारा माँ पद्मावती के उपासक सिद्धवाणी जनकल्याणकारी संत डॉ. वसंत विजय जी महाराज को नवकार उपाधि अलंकरण समिति “नवकार गुरु यतिरत्न उपाधि” से अलंकरण करने का समिति द्वारा निर्णय लिया गया है. समिति अध्यक्ष विनायक अशोक लुनिया कोलकाता ने बताया की हमारा सौभाग्य है की हम महान गुरु भगवन्तो के श्री चरणों ने उपाधि भेंट कर रहे है. श्री लुनिया ने आगे कहा की नवकार उपाधि अलंकरण सम्मान प्रथा स्व. हमारे पूज्य पिताश्री स्व. श्री अशोक जी लुनिया साहब के द्वारा वर्ष 2016 में प्रारम्भ किया गया था. और उसी प्रथा को समिति सकल जैन समाज के सहयोग और समर्थन के साथ निरंतर आगे बढ़ा रही है.
चार वर्षों में दो सौ से अधिक समाज सेवियों/ सामाजिक संस्थानों के साथ गुरुभागवंत एवं राजनेता अलंकृत – डॉ. सचिन कासलीवाल
नवकार उपाधि अलंकरण समिति सचिव नवकार धर्मयोद्धा डॉ. सचिन कासलीवाल ने बताया की वर्ष 2016 में स्व. श्री अशोक जी लुनिया के द्वारा आयोजित भव्य अलंकरण समारोह का सौभाग्य उज्जैन को प्राप्त हुआ था और तब से अब तक समाज के 31 गुरुभगवन्तों के साथ ही 200 से अधिक सामाजिक संस्थानों, समाज सेवियों व् राजनेताओं को भी नवकार उपाधि से अलंकृत किया जा चूका है.
इंदौर में होगा अलंकरण
समिति अध्यक्ष विनायक अशोक लुनिया ने बताया की डॉ. वसंत विजय जी महाराज को आगामी सप्ताह में आयोजित होने वाले नवरात्री महोत्सव में गुरुदेव के इंदौर चातुर्मास के दौरान अलंकरण किया जायेगा, जिस हेतु समाज के वरिष्ठगण के साथ ही समिति पदाधिकारी होंगे शामिल.
इंदौर में हुआ राष्ट्रसंत का अलंकरण
जैन धर्म के चातुर्मास प्रारम्भ होने के पूर्व राष्ट्रसंत आचार्य रत्नसुंदर सूरीश्वर जी महाराज को जैन समाज इंदौर द्वारा “नवकार गुरु कर्मयोगी रत्न” उपाधि अलंकरण से अलंकृत किया जा चूका है.
इंदौर से ये हो चुके अलंकृत
इंदौर से समाज और देश के लिए समर्पित इन समाज सेवियों का हो चूका है अलंकरण
वर्ष 2016
1- पत्रकारिता के पितृपूरूष एवं स्वतंत्र सेनानी स्व. श्रीमान हुकुमचंद नारद (नवकार रत्न उपाधि)
2- समाजसेवी श्रीमान डाॅ प्रकाश बंगानी (नवकार गौरव उपाधि)
3- समाजसेवी श्रीमती मंजू अजमेरा (नवकार धर्म रक्षक उपाधि)
वर्ष 2018
1- समाजसेवी स्व. श्री विमल चंद छजलानी (नवकार रत्न उपाधि)
2- समाजसेवी श्री विजय मेहता (नवकार विभूषण उपाधि)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *